वृद्धा ने एसएसपी से लेकर क्लेमेनटाउन थानाध्यक्ष तक लगाई उसकी जमीन बचाने की गुहार

वृद्धा ने एसएसपी से लेकर क्लेमेनटाउन थानाध्यक्ष तक लगाई उसकी जमीन बचाने की गुहार

 

देहरादून। श्रीमती जोकला देवी पत्नी स्व0 करन बहादुर निवासी तिब्बतन कालोनी आशारोडी, क्लेमेनटाउन ने एसएसपी से लेकर थानाध्यक्ष को पत्र लिखकर उसकी जमीन को भूमाफिया से बचाने की गुहार लगाई है।

पत्र में वृद्धा ने लिखा है कि वे एक विधवा एवं वृद्ध महिला है। प्रार्थिनी के पति स्व० करन बहादुर भारतीय सेना से सेवारत थे तथा अपनी सर्विस के दौरान उन्होंने वर्ष 1966 में एक सम्पत्ति थाना क्लेमेनटाउन के पीछे 25 फीट चौड़ी सड़क पर भारूवाला ग्रान्ट, देहरादून में खरीदी थी। मेरे पति की मृत्यु के बाद उक्त सम्पत्ति मेरे और मेरे पुत्र के नाम सरकारी अभिलेखों में दर्ज हो गयी। उक्त सम्पत्ति को कई वर्षों से राजेन्द्रवीर सिंह, श्रीमती बासु गुरूंग पत्नी श्री वीर बहादुर, श्रीमती श्वेता शर्मा पत्नी श्री ब्रिजेश कुमार महेन्द सिंह नेगी, श्रीमती सविता चन्दोला, श्रीमती देवेश्वरी देवी पत्नी श्री एस०एस० रावत, श्रीमती दीपा देवी पत्नी श्री दौलत सिंह, महिताब सिंह रावत आदि बदमाश प्रवृत्ति के लोग एकत्रित होकर खुर्द-बुर्द करने का प्रयास कर रहे हैं। कुछ दिन पूर्व रात के समय इन बदमाशों ने मेरी सम्पत्ति पर कब्जा करके पक्की सड़क का निर्माण कर दिया। यह भू-माफिया बिल्कुल बेखौफ एंव निडर होकर मेरी सम्पत्ति को खुर्द-बुर्द कर रहे हैं।
यह सम्पत्ति मेरे पति ने अपनी मेहनत की कमाई से यह सोचकर खरीदी थी कि बुरे वक्त पर उनके परिवार के काम आयेगी परन्तु भू-माफियाओं द्वारा इस सम्पत्ति को खुर्द-बुर्द करके मेरा बुढापा एवं मेरे पुत्र का भविष्य बर्बाद किया जा रहा है। इतने दबंग एवं बदमाश लोगों से मुझे अपनी एवं अपने बेटे की जान का खतरा बना हुआ है। महोदय मुझे पूरा यकीन है कि यह बदमाश रसूखदार एवं ऊंची पहुंच वाले भी होंगे परन्तु में पुलिस पर पूरा विश्वास करते हुए यकीन करती हूँ कि पुलिस एक अबला मां के इस प्रार्थनापत्र पर न्यायोचित कार्यवाही करेगी तथा निडर बेखौफ बदमाशों से मेरी, मेरे बेटे की एवं मेरी सम्पत्ति की रक्षा करेगी। ऐसी मुझे आशा है।

सम्बंधित खबरें